Shayad


ज़िन्दगी में शायद ही कोई बात शायद होती है…
ज़िन्दगी में शायद ही कोई बात पूरी होती है!

दिल में जो बात है,
शायद ही वो कभी जुबान पे होती है!

दिल में जो दर्द है,
शायद ही वो शब्दों में बयान हो पाती है!

खुशियाँ तो बांटने से बढ़ती है…
शायद ही हम पूरा दे पाते है!

आशाएं तो है…
शायद ही हम पूरा कर पाते है!

ज़िन्दगी तो खूबसूरत है…
शायद ही हम इसके रंग जी पाते है!

देने को तो बहुत कुछ है…
शायद ही हम कुछ दे पाते है!

सबके रहते हुए भी अकेले से है…
शायद ही हम साथ चल पाते है!

खुद पे विश्वास तो है…
शायद ही हम कदम ले पाते है!

ज़िन्दगी तो हर पल चुनौती है…
शायद हम जीने से डरते है!

शायद न होता गर… ज़िन्दगी कुछ और होती…
ख़्वाब होते हकीकत,
ख़ुशियाँ आज़ाद होती!!

21 thoughts on “Shayad

  1. Prabhat Sinha

    Hum Zindagi k har mod pe jab hum kuch sochte hai to ye Shayad wali baat Dil me aa hi jati hai.
    Humsab jo is shayad ko leke mehsus karte hai ush ehsas ko aapne bahut satik Roop me shabo me likh Diya hai.Dil ko chhu gayi ye ..

    Liked by 1 person

  2. Geeta

    Shayad” Zindagi itni kashmakash mein Hoti hai ki hum Kuch kekar bhi keh Nahi patey..Shayad issi Ka Naam Zindagi Hai”
    Bahut khoobsurat description of word Shayad ” Appreciate Mala..!

    Liked by 1 person

    1. Thank you so Much Aunty :) Keep Blessing ….

      Agreed …Sometime we really want to say so many things ..but we stop our self ..we stop to show our emotion. In this world People who show emotion are called Weakest ..But i believe they are the most strongest .. Because they are Real . Cheers !

      Liked by 1 person

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s