Blog


Bandhan – Apni Jaan hai !!


वो प्यार…वो शरारते…वो बचपन…वो लड़कपन…बस यादें ही तो है !! एक भरोसा …साथ है हम …एक ऐसा प्यार …हर बार साथ देंगे हम !! कभी चुपके से छुप जाना…और ढूंढे जाने का इंतज़ार करना …कभी बस रोकर बात मना लेना…बचपन कितना खूबसूरत था !!कुछ ऐसा ही है बहन और भाई का प्यार …!! ये रिश्तों को …

Continue reading Bandhan – Apni Jaan hai !!

…Yuhi Reh lete hai !!


वो ज़िक्र ही क्या जिसमे तुम न हो…वो फ़िक्र क्या जिसमे तुम्हारी फिक्र न हो ।। वो प्यार क्या जिसमे तुम न हो …वो बात क्या जिसमे तुम्हारी बात न हो।। ये पूछे के …ऐसा क्या है जिसमे तुम नहीं हो…और ये शर्त हम मान ले के तुम नहीं हो।। खामोश रहते है मगर आवाज़ …

Continue reading …Yuhi Reh lete hai !!

Waqt !!


बड़ा शोर करता है ये रात आजकल…दिन में आजकल वक़्त थोड़ा मिलता है !! न जाने कौन – कौन सी यादों में सिमटा रहता है…पर जब भी मिलता है –किसी न किसी वक़्त से मिला देता है।। शोर में खुद को आज़ाद रखना आसान होता है…ख़ामोशी में खुद को समेटना मुश्किल !! ख़ामोशी तो सच …

Continue reading Waqt !!

Shikayat !!


शिकायत!! खुद से …खुदा से…वक़्त से…हालात से…अपनी बेचैनी से …अपनी उम्मीद से…न जाने कब किससे…क्यों ये शिकायत ??बस ये शिकायत है !! क्यों ये कहते हुए ख़ामोशी से शिकायत…क्यों ये रहते हुए ज़िन्दगी से शिकायत…क्यों ये बहते हुए आँसू से शिकायत…क्यों ये जाते हुए प्यार से शिकायत…क्यों ये आते हुए गुस्से से शिकायत…क्यों ये छोटी …

Continue reading Shikayat !!

Rango se Mulakat !!


यू तो रंगों से हर रोज़ मिलते है… ये रंग बढ़े ख़ास है – ये बागों के फूल है… और कभी पतझड़ के सुखें पते है…ये बारिश का पानी है… और कभी  उदासी के आँसू है…ये ख़ुशी से खिलखिलाती हंसी है… तो कभी बस कुछ यादें है…ये अपनों की तरह अभिमान का रंग है …तो …

Continue reading Rango se Mulakat !!

Zid Kuch Aisi Hai !!


कहना क्या है !! तेरी मेरी कहानी एक ज़िद पे टिकी है … कभी कही भी नहीं और समझ भी गए…ये ज़िद कुछ ऐसी है !!

Jab Chand ko dekh rahe the!!


जब चाँद को देख रहे थे…तो लगा जैसे खुद को देख रहे थे।। अँधेरे में चमक इतनी खूबसूरत थी…के लगा खुद को आईने में देख रहे थे ! थोड़ी तो दाग दिखी चाँद में …लगा जैसे तजुर्बा बयान कर रही थी…न जाने कितने दर्द लिए मुश्कुरा रही थी ! कहीं हमारी तरह ही खुद को …

Continue reading Jab Chand ko dekh rahe the!!

Intezaar!!


यूॅं मिलते भी रहे और सवाल करते भी रहे…ज़िन्दगी में कई बार खुद को सवाल में घेरते भी रहे! न जाने क्यों …पर हर बार खुद को यूॅंहि परेशान करते रहे…रिश्ते कभी साथ रहे… या फिर दूर जाने के बहाने ढूँढ़ते रहे…फिर भी न जाने क्यों हम इंतज़ार करते रहे!! कभी आँखे बहुत कुछ छुपाती …

Continue reading Intezaar!!

Khwaab Mei!!


ख़्वाब में तेरा आना जाना लगा रहता है…सुना है दिल तुम्हारा भी युॅंही बेचैन रहता है!! दो पल के लिए ही सही तेरा दीदार सिर्फ मेरे लिए होता है…सुना है तुम्हे भी युॅंहि मिलना अच्छा लगता है।। ख़्वाब में तेरा आना जाना लगा रहता है!! तुम्हे कहीं तो पा लेते है…खुद के लिए…बस ये एहसास अच्छा …

Continue reading Khwaab Mei!!

Loading…

Something went wrong. Please refresh the page and/or try again.


Follow My Blog

Get new content delivered directly to your inbox.